एक अशुद्ध बेवक़ूफ़

बिना जाने बेवक़ूफ़ बनाना एक अलग और आसान चीज है। कोई भी इसे निभा देता है। मगर यह जानते हुए कि मैं बेवक़ूफ़ बनाया जा रहा हूँ और जो मुझे कहा जा

More

तीसरे दर्ज़े के श्रद्धेय

बुद्धिजीवी बहुत थोड़े में संतुष्ट हो जाता है। उसे पहले दर्ज़े का किराया दे दो ताकि वह तीसरे में सफर करके पैसा बचा ले। एकाध माला पहना दो, कुछ श्रोता दे दो

More